Micro And Macro Economics

Micro And Macro Economics 7 Important points

सूक्ष्म अर्थशास्त्र इकाई का एवं समष्टि अर्थशास्त्र समग्र इकाई का अध्ययन करता है। तो आगे हम Micro And Macro Economics के अंतर को समझेंगे।

Difference Between Micro And Macro Economics :-

प्राचीन वेद शास्त्रों में अर्थशास्त्र भी भारत की एक प्रमुख विद्या है किन्तु यहाँ अब उपलब्ध नहीं है ।
वर्तमान में अर्थशास्त्र के अंतर्गत आर्थिक समस्याओं को सुविधा की दृष्टि से दो भागो में बाटा जाता है :-

(अ) व्यष्टि (माइक्रो ) अर्थशास्त्र (Micro Economics)

(ब) समष्टि (मैक्रो ) अर्थशास्त्र (Macro Economics) में बाटा गया है ।

सर्वप्रथम इस दो शब्दों का उपयोग यूनिवर्सिटी आफ ओस्लो के विद्वान प्रोफेसर रेगनर फ्रिश ने किया । Difference Between Micro And Macro Economics :-


Micro Economics

व्यष्टि अर्थशास्त्र(Micro Economics) का अर्थ :-

माइक्रो (Micro ) शब्द की उत्पत्ति ग्रीक भाषा के "Micros " शब्द से हुई है , जिसका अर्थ सूक्ष्म होता हैं । अर्थात किसी पदार्थ का अति सूक्ष्म भाग जिसे सूक्ष्मदर्शी से देख सके । इसे अणु अर्थशास्त्र (Micro Economics) भी कहते हैं।

व्यष्टि अर्थशास्त्र (Micro Economics) इकाई का अध्ययन करता है जैसे एक व्यक्ति, फार्म , उद्योग के द्वारा अर्जित आय, उपभोग, उत्पादन आदि का अध्ययन करता है ।

सूक्ष्म अर्थशास्त्र का प्रयोग किसी वस्तु एवं सेवा का मूल्य निर्धारण में किया जाता हैं ।

व्यष्टि अर्थशास्त्र(Micro Economics) की परिभाषाएँ :-

1 . प्रो. चैंबरलेन: - "सूक्ष्म अर्थशास्त्र पूर्णतया व्यक्तिगत व्याख्या पर आधारित है तथा इसका सम्बन्ध अंतर व्यक्तिक सम्बन्धो से भी होता है ।"

2 .प्रो.बोल्डिंग :- " व्यष्टि अर्थशास्त्र विशिष्ट आर्थिक क्रियाओ एवं उसकी पारस्परिक प्रतिक्रिया का अध्ययन है तथा इसमें विशिष्ट आर्थिक मात्राएँ एवं उनका निर्धारण भी सम्मिलित है ।"

"

micro and macro economics

Micro economics is the study of particular economic organism and their interaction and of particular economic quantities and their determination.


Boulding A Reconstruction of Economics

3 . हैण्डरसन एवं क्वाण्ट :- "सूक्ष्म अर्थशास्त्र व्यक्तियों और व्यक्तियों के परिभाषित समूह के आर्थिक कार्यों का अध्ययन है।"

“Micro Economics is the study of economic action of individual and well defind group od individuals.”

Handderson And Quant

Micro Economics Theory

Macro Economics

समष्टि अर्थशास्त्र(Macro Economics) का अर्थ :-

समष्टि अर्थशास्त्र अंग्रेजी के मैक्रो (Macro ) शब्द का हिंदी अनुवाद है "Macro " ग्रीक भाषा के "Markros " से लिया गया है जिसका अर्थ होता है "वृहत "।

इस प्रकार समष्टि अर्थशास्त्र में राष्ट्रीय एवं अंतराष्ट्रीय समस्याओं का अध्ययन किया जाता है क्योंकि इसमें समग्र इकाइयों को सम्मिलित किया जाता है इसलिए इसे वृहत या व्यापक अर्थशास्त्र भी कहते हैं । जैसे किसी अर्थव्यस्था में समग्र मांग , समग्र पूर्ति , कुल उत्पादन, राष्ट्रीय आय , राष्ट्रीय विनियोग, राष्ट्रीय बचत आदि ।


समष्टि अर्थशास्त्र के विकास में प्रोफेसर जॉन मेनार्ड कीन्स का महत्वपूर्ण योगदान है, सन 1930 की महामंडी (The Great Depression ) के समय जब पुराने सिध्दांत "जीन बैपटिस्ट से का बाजार नियम " की असफलता एवं पूर्ण रोजगार जैसी मान्यताओं से दुनिया का भ्रम टूटने के बाद पूरी दुनिया में एक नकारात्मक भय का माहौल था ।


ऐसे समय में प्रोफेसर जॉन मेनार्ड कीन्स ने एक ग्रन्थ की रचना की " जनरल थ्योरी " (The General theory) जिसका प्रकाशन सन 1936 हुआ जिसमे प्रोफेसर कीन्स ने जे. बी. से की कड़ी आलोचना करते हुए उसे नए सिद्धांत दिए जो समष्टि अर्थशास्त्र की आत्मा सिद्ध हुई ।

The General Theory Of Employment, Interest And Money

Book Purchased here :-https://www.amazon.in/


समष्टि अर्थशास्त्र(Macro Economics) की परिभाषाएँ :-

1 . प्रो. बोल्डिंग :- "वृहत अर्थशास्त्र में व्यक्तिगत मात्राओं का अध्ययन नहीं किया जाता है, बल्कि इन मात्राओं के योग का अध्ययन किया जाता है । इसका सम्बन्ध व्यक्तिगत आया का नहीं बल्कि राष्ट्रीय आया से होती है, व्यक्तिगत कीमत से नहीं बल्कि सामान्य कीमत से होती है , व्यक्तिगत उत्पादन से नहीं बल्कि सामान्य उत्पादन से होती है ।"


micro and macro economics

Boulding

 A Reconstruction of Economics

Macro economics deals not with individual qualities as such but with aggregates of there quantities, not with individual income but with national income, not with individual output but with national output.

2.प्रो. शुल्ज़ :- " व्यापक अर्थशास्त्र का मुख्य यन्त्र राष्ट्रीय आय का विश्लेषण करता है ।"


3.प्रो. चैंबरलेन :- " व्यापक अर्थशास्त्र कुल सम्बन्धों का अध्ययन करता है ।"


                                                                   स्रोत :- व्यष्टि अर्थशास्त्र - जे .सी. पंत

Book Purchase here :-  https://www.amazon.in/


 

Characteristics of micro And Macro Economics


व्यष्टि अर्थशास्त्र की विशेषताएँ 

Characteristics of micro Economics :-


1. व्यष्टि अर्थशास्त्र इकाई का अधययन करता है ।
2. व्यष्टि अर्थशास्त्र के चर इतने सूक्ष्म होते हैं कि इसमें होने वाला बदलाव अन्य चरों को
    प्रभावित नहीं करता ।
3. पूर्ण रोजगार की मान्यता पर आधारित है ।
4. व्यष्टि अर्थशास्त्र किसी वस्तु की मांग एवं पूर्ति की शक्तियों के द्वारा कीमत का निर्धारण करता है ।
5. व्यष्टि अर्थशास्त्र क्षेत्र विशेष से सम्बंधित होती है ।


समष्टि अर्थशास्त्र की विशेषताएँ

Characteristics of macro Economics :-


1.समष्टि अर्थशास्त्र का दृष्टि कोण व्यापक होता है ।
2. इसमें सरकार की मौद्रिक एवं राजकोषीय नीति का विश्लेषण किया जाता हैं ।
3. इसमें सम्पूर्ण अर्थव्यस्था का विश्लेषण किया जाता हैं ।
4. इसके चर स्वतंत्र नहीं होते अर्थात समष्टि अर्थशास्त्र में किसी चर में परिवर्तन अन्य चरो को प्रभावित करते हैं  

    जिससे परिणाम परिवर्तित हो सकती है ।

Difference Between Micro And Macro Economics :-

माइक्रो एवं मैक्रो इकोनॉमिक्स में अंतर अथवा व्यष्टि और समष्टि अर्थशास्त्र में अंतर :-

 Micro Economics

1. व्यष्टि अर्थशास्त्र में व्यक्तिगत इकाई का अध्ययन         किया जाता है |

2. व्यष्टि अर्थशास्त्र का क्षेत्र संकुचित होता है ।

3व्यष्टि अर्थशास्त्र में प्रतिव्यक्ति उत्पादन को ज्ञात           किया जाता है ।

4. व्यष्टि अर्थशास्त्र में प्रतिव्यक्ति आय, उपभोग बचत        का विश्लेषण किया जाता है ।

5. व्यष्टि अर्थशास्त्र में व्यक्तिगत समस्याओं का अध्ययन    किया जाता है ।

6. व्यष्टि अर्थशास्त्र कीमत विश्लेषण से सम्बन्ध रखता       है।

7. व्यष्टि अर्थशास्त्र किसी स्थान विशेष के लिए                  उपयोगी है।

Macro Economics

1. समष्टि अर्थशास्त्र में सम्पूर्ण अर्थव्यवस्था का                अध्ययन किया जाता है ।

2. समष्टि अर्थशास्त्र का क्षेत्र वृहत अर्थात व्यापक होता      है ।

3. समष्टि अर्थशास्त्र में राष्ट्रीय उत्पादन को ।

4. समष्टि अर्थशास्त्र में राष्ट्रीय आय , कुल उपभोग,           कुल बचत का विश्लेषण किया जाता है ।

5. समष्टि अर्थशास्त्र में राष्ट्रीय एवं अंतराष्ट्रीय समस्याओं      का अधययन किया जाता है ।

6. समष्टि अर्थशास्त्र आय विश्लेषण से सम्बन्ध रखता        है।

7. समष्टि अर्थशास्त्र की उपयोगिता सार्वभौमिक

    है ।

 हम आशा करते है कि उपरोक्त विषय Micro And Macro Economics पर दी गई जानकारी आपको अच्छी  लगी होगी।

इस लेख को share करना न भूले और नीचे कमेंट कर के बताये कि आपको यह लेख कैसी लगी अगर आप हमे कोई सुझाव देना चाहते है तो जरूर लिखे हमे आपकी प्रतिक्रिया का इंतज़ार रहेगा ।


Leave a Comment